Jo Nahi Ho Sake Purn Kaam Mai Unko Krta Hu Pranaam, Nagaarjun Kavita Sangrah

उनको प्रणाम (नागार्जुन/कविता संग्रह) जो नहीं हो सके पूर्ण–काम मैं उनको करता हूँ प्रणाम । कुछ कंठित औ’ कुछ लक्ष्य–भ्रष्ट जिनके अभिमंत्रित तीर हुए; रण की समाप्ति के पहले ही जो वीर रिक्त तूणीर हुए ! उनको प्रणाम ! जो छोटी–सी नैया लेकर उतरे करने को उदधि–पार; मन की मन में ही रही¸ स्वयं हो गए उसी … Read more

Mor Na Hoga …Ulloo Honge, Ek Vyaangayaatmak Kavita / Naagaarjun

मोर ना होगा……. उल्लू होंगे, एक व्यांगयात्मक कविता ख़ूब तनी हो, ख़ूब अड़ी हो, ख़ूब लड़ी हो प्रजातंत्र को कौन पूछता, तुम्हीं बड़ी हो डर के मारे न्यायपालिका काँप गई है वो बेचारी अगली गति-विधि भाँप गई है देश बड़ा है, लोकतंत्र है सिक्का खोटा तुम्हीं बड़ी हो, संविधान है तुम से छोटा तुम से … Read more

Kavi Naagaarjun Biography in Hindi, नागार्जुन जीवन परिचय, जीवनी, निबंध

कवि नागार्जुन का जीवन परिचय, नागार्जुन के जीवन पर निबंध Kavi Naagaarjun Ka Jeevan Parichay, Essay on Kavi Naagaarjun कवि नागार्जुन संक्षिप्त जीवन परिचय Naagaarjun Brief Biography in Hindi, About Naagaarjun नाम वैद्यनाथ मिश्र अन्य नाम नागार्जुन, यात्री जन्म 30 जून, 1911 जन्म भूमि मधुबनी ज़िला, बिहार मृत्यु 5 नवंबर, 1998 मृत्यु स्थान   दरभंगा ज़िला, बिहार … Read more